Language : English / Hindi
समग्र कल्याण के लिए शोध, आइडिया, नवाचार, अभिनव तरीके से कार्यान्वयन की दिशा में पहल

इस वर्ष हम आपको अपनी मैराथन डिजाइन करने का अवसर प्रदान करते हैं! बेहतर स्कूल वातावरण और खुशहाल बचपन के लिए देश के सभी छात्र अपनी रचनात्मकता और नवाचार की प्रतिभा का प्रदर्शन करेंगे।

अपने स्कूल की समस्याएं हमें बताएं और आपकी समस्या भी इस वर्ष के मैराथन का विषय बन सकता है और पूरा देश इसे सुलझाने का प्रयास करेगा।

  • क्या आपने कभी अपने स्कूल में या ऑनलाइन बदमाशी का सामना किया है?
  • क्या कभी आपने भेदभाव का सामना किया है?
  • क्या आपके स्कूल का परिवेश असुरक्षित या अस्वास्थ्यकर है?

या कोई अन्य समस्या जिसे आप एक स्वस्थ और शांतिपूर्ण समाज व इसके विकास के लिए सुलझाना आवश्यक समझते हैं। इस संबंध में आपके पास पहल का सुनहरा मौका है!

कोई भी समस्या बहुत छोटी नहीं होती है और हर समस्या का हल है।

याद रखें कि यह स्प्रिंट नहीं बल्कि मैराथन है, इसलिए तसल्ली से सोचें कि आप अपने समाधान से क्या हासिल करना चाहते हैं। साथ ही साथ स्कूल के माहौल में एक बड़े बदलाव की दिशा में कार्य कर अपने जैसे अन्य छात्रों की समस्या सुलझा कर मिसाल कायम करें।

जीतने वाली प्रविष्टि न केवल एक अच्छा समाधान सुझाने वाली होगी, बल्कि यह एक ऐसी प्रविष्टि भी होगी जिसने समस्या को अच्छी तरह से समझा, समस्या के अभिनव समाधान के बारे में सोचा तथा इसे अपने स्कूल के भीतर लागू किया और अधिक से अधिक स्कूलों में इसे लागू करने का मार्ग प्रशस्त किया। यह प्रतियोगिता एटीएल मैराथन 2019 के पहले फेज़ का एक हिस्सा है।

तीसरा चरण

इस वर्ष का मैराथन देश के सभी छात्रों द्वारा उजागर की गई समस्याओं पर केंद्रित है।

आपने एटीएल मैराथन के पहले चरण और दूसरे चरण को सफल बनाने के लिए बड़ी संख्या में भाग लिया। इसके लिए बहुत-बहुत धन्यवाद!

छात्रों द्वारा सबसे अधिक बार उजागर की गई समस्याएं ही एटीएल मैराथन 2019 का प्रॉब्लम स्टेटमेंट है जिसका हमारे सभी युवा इनोवेटर्स अपने स्कूल और समुदाय के भीतर समाधान निकालेंगे और इसका कार्यान्वयन करेंगे।

विषय उप-विषय
परिणाम आधारित गुणवत्ता पूर्ण शिक्षा
  • संवादात्मक और अनुभवात्मक शिक्षण हेतु अभिनव समाधान।
  • स्कूल के पाठ्यक्रम में सामाजिक, भावनात्मक और नैतिक शिक्षा को शामिल करने हेतु अभिनव समाधान।
  • अटल टिंकरिंग लैब में सामुदायिक स्कूलों की भागीदारी बढ़ाने हेतु अभिनव सुझाव।
  • आपके विद्यालय में उपलब्ध कराए गए शिक्षण की सामग्री (पाठ्यपुस्तकें, ब्लैकबोर्ड आदि) में सुधार हेतु अभिनव समाधान दें।
सभी के लिए समानता व समग्रता सुनिश्चित
  • अपने स्कूल के प्रशासन (प्रवेश प्रक्रिया, शुल्क संरचना आदि) और उसके इंफ्रास्ट्रक्चर (विशेष रूप से दिव्यांगजनों) को अत्याधुनिक और अधिक सक्षम बनाने के लिए अभिनव समाधान सुझाएं।
  • सभी (उम्र, लिंग, धर्म, लिंग, जाति, स्थिति आदि की परवाह किए बिना) के लिए स्कूल में समावेशी माहौल तैयार करने के लिए अभिनव समाधान सुझाएं।
  • देश के स्कूलों में इंटर-स्कूल कनेक्टिविटी के लिए सक्षम व कुशल इंफ्रास्ट्रक्चर हेतु अभिनव समाधान सुझाएं।
  • स्कूलों के शौचालयों (पॉट्स / मूत्रालय / वॉशबेसिन), कक्षाओं के अंदर- बाहर तथा स्कूल के आस-पास सफाई की व्यवस्था को स्वचालित बनाने के लिए अभिनव समाधान दें। ध्यान रखें कि यह समाधान एक बड़े क्षेत्र व छात्रों की बड़ी संख्या की जरुरतों और सभी प्रकार के कचरे से निपटने में सक्षम हो।
दीर्घकालिक न्याय और समुचित माहौल की दिशा में पहल
  • स्कूलों में बदमाशी व शरारतों (शारीरिक, मानसिक, साइबर आदि) के खतरे से निपटने के लिए छात्रों, शिक्षकों और कर्मचारियों हेतु समाधान सुझाएं।
  • लड़कियों और महिलाओं के लिए एक सुरक्षित वातावरण तैयार करने के लिए समाधान सुझाएं।
  • पर्यावरण के अनुकूल टिकाऊ व उर्जा सक्षम स्कूल व समुदाय बनाने के लिए अभिनव समाधान सुझाएं
  • सार्वजनिक और निजी स्कूलों के बीच असमानता को दूर करने के लिए अभिनव समाधान सुझाएं
स्वास्थ्य और स्वच्छता को बढ़ावा
  • छात्रों, शिक्षकों, कर्मचारियों और / या समुदाय की मानसिक व शारीरिक स्थिति में सुधार हेतु अभिनव समाधान दें।
  • स्वच्छ पानी और हवा पाने के लिए अभिनव समाधान दें।
  • जलवायु परिवर्तन की समस्या से निपटने के लिए अभिनव समाधान दें।
  • अपशिष्ट (सूखा, गीला, मल) प्रबंधन के लिए अभिनव समाधान दें।

एटीएल मैराथन के अगले चरण में आपको उपर्युक्त किसी एक समस्या का चयन करना है और इसके समाधान के लिए शोध करें और आइडिया दें।

नोट: इस चरण में आपको समस्या के हल हेतु वास्तव में प्रोटोटाइप बनाने या समाधान निकालने की आवश्यकता नहीं है। इस चरण में आप हमें केवल चयनित समस्या के प्रति अपनी सोंच व समझ स्पष्ट करेंगे और बताएं कि आप इस समस्या को कैसे सुलझाना चाहते हैं।

इस चरण में सिर्फ प्रविष्टियों का चयन किया जाएगा। इस दौर के शीर्ष प्रविष्टियों को चौथे चरण के लिए शॉर्टलिस्ट किया जाएगा जिसमें अंतत: समाधान को विकसित और कार्यान्वित करने की आवश्यकता होगी।

इस दौर के प्रमुख चरण:

  • रिसर्च
    • समस्या को गहराई से समझे बिना कोई भी इसे प्रभावी ढंग से हल नहीं कर सकता है।
    • इस चरण में आपको अपने दोस्तों, शिक्षकों, पड़ोसियों, माता-पिता और समुदाय से बात करके सही अर्थ में समस्या को समझने की आवश्यकता है।
    • सर्वेक्षण के माध्यम से प्राप्त जवाबों को संक्षेप में लिखकर प्रतिक्रिया का विश्लेषण करें।
    • समस्या के बारे में अपने निष्कर्षों और अपनी समझ को लिखें।
    • छात्रों की जो टीम समस्या का सबसे गहन और पूर्ण अनुसंधान व समझ पेश करेगी, उसे शॉर्टलिस्ट किया जाएगा।
  • द्वितीय-विचार (आइडियेशन)
    • जब आपकी टीम अनुसंधान के पहले चरण में समस्या को पूरी तरह से समझ ले, तब आप तकनीकी कला या विज्ञान और प्रौद्योगिकी के इस्तेमाल से समस्या को हल करने के बारे में सोचें।
    • हमें अपना विचार बताएं कि आप समस्या को कैसे हल करना चाहते हैं और आप इसका कार्यान्वयन कैसे सुनिश्चित करेंगे ?
    • आप अपने विचार के लिए एक स्केच या एक प्लान प्रस्तुत कर सकते हैं। यदि चौथे चरण के लिए इसका चयन किया जाता है, तो आप एक सच्चे इनोवेटर के तौर पर इस समस्या के समाधान और डिजाइन को अपने स्कूल, समुदाय और देश में कार्यान्वित कर सकते हैं।

चौथा चरण

छात्रों द्वारा सबसे ज्यादा बार उल्लेखित समस्याओं को एटीएल मैराथन 2019 का प्रॉब्लम स्टेटमेंट बनाया गया है। हमारे युवा इनोवेटर्स अपने स्कूल और समुदाय के भीतर इसका समाधान निकालेंगे और इसे लागू करेंगे।

एटीएल मैराथन के अगले चरण में, आपको

रिसर्च व आइडियेशन के लिए चयनित समस्या से संबंधित अभिनव समाधान ( इनोवेट) सुझाना है

और

इसे अपने स्कूल और समुदाय के भीतर क्रियान्वित करना है।

नोट: आपकी मांग के मद्देनजर जिन लोगों ने फेज 3 में भाग नहीं लिया है, वे अभी भी अनुसंधान और आइडिया के चरण को पूरा करके एटीएल मैराथन में भाग ले सकते हैं और फिर अपना नवाचार और कार्यान्वयन प्रस्तुत कर सकते हैं।

इस राउंड में शीर्ष प्रविष्टियों को शॉर्टलिस्ट किया जाएगा और विजेताओं को आकर्षक अवसर प्रदान किए जाएंगें।

इस चरण में:

इनोवेट और कार्यान्वित करें

  • चरण 3 में आपके द्वारा चयनित प्रॉब्लम स्टेटमेंट का नवाचार के जरिए अभिनव समाधान तैयार करें।
  • एक वीडियो सबमिट करें और इसमें अपना नवाचार दिखाते हुए बताएं कि यह चयनित समस्या को कैसे हल करता है। साथ ही दिखाएं कि आपने इसे अपने स्कूल या समुदाय के भीतर कैसे लागू किया है।

प्रस्तुत करने की श्रेणियाँ

टेक्नो आर्ट सॉल्यूशन

समस्याओं की पहचान कर उसका समाधान निकालने के अलावा इस वर्ष ए.टी.एल. मैराथन में देश की प्रमुख सामाजिक समस्याओं से निपटने हेतु जागरूकता बढ़ाने पर भी जोर दिया गया है। कला अभिव्यक्ति का एक सशक्त माध्यम है, जिसे शब्दों में व्यक्त नहीं किया जा सकता है। कुछ वर्षों से प्रौद्योगिकी भी कलाकारों को अभिव्यक्ति का एक नया तरीका व साधन प्रदान कर रही है। इस वर्ष तकनीकी नवाचार के अलावा हम कला की एक नई श्रेणी को शामिल कर कर हैं - TechnoArt!

टेक्नोआर्ट क्या है?

आजकल 3 डी प्रिंटर, ड्रोन, वीआर हेडसेट आदि का इस्तेमाल किया जा रहा है। कला की अभिव्यक्ति के लिए पेंट और ब्रश का उपयोग किया जाता है। काइनेटिक आर्ट से संवादात्मक प्रतिष्ठानों और कंडक्टिव पेंट तक कलाकारों ने कला को प्रौद्योगिकी व वॉइला के साथ एकीकृत कर टेक्नोआर्ट बनाने के अनगिनत तरीके बनाएं हैं! तो इस वर्ष एटीएल मैराथन में अपनी कलात्मक प्रतिभा से एक ऐसी समस्या की पहचान करें जिसे आप टेक्नोआर्ट के माध्यम से हल करने के लिए नवाचार को उत्सुक हैं।

शुरुआत करने के लिए नीचे दिए गए लिंक को देखें -

विज्ञान और प्रौद्योगिकी आधारित समाधान

अपने स्कूल की किसी समस्या को हल करने के लिए एक ऐसा समाधान सुझाएं जिसे प्रौद्योगिकी के इस्तेमाल से कार्यान्वित किया जा सके

  • रोबोटिक्स
  • आइओटी और सेंसर
  • इलेक्ट्रॉनिक्स
  • 3 डी प्रिंटिग
  • ड्रोन प्रौद्योगिकी
  • कम्प्यूटेशनल थिंकिंग
  • डिजाइन थिंकिंग
  • आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस
  • अन्य प्रौद्योगिकी / नवाचार क्षेत्र

छात्रों और स्कूलों के लिए

एटीएल मैराथन 2019 में भाग लेने के लिए एटीएल और गैर-एटीएल के बीच साझेदारी हेतु नियम और शर्तें

  • आवेदन MyGov वेबसाइट के माध्यम से जमा किए जा सकते हैं।
  • इसमें एटीएल और गैर-एटीएल स्कूल भाग ले सकते हैं।
  • एटीएल मैराथन 2019 में आवेदन के लिए एक गैर-एटीएल स्कूल अपने निकटतम एटीएल स्कूल के साथ साझेदारी कर सकता है। उस एटीएल स्कूल को पेरेंट एटीएल केंद्र तथा गैर-एटीएल स्कूल को चाइल्ड स्कूल कहा जाएगा।
  • पैरेंट एटीएल केंद्र अपने स्कूल में "चाइल्ड स्कूल" के छात्रों / संकाय को अटल टिंकरिंग लैब तक पहुँच प्रदान करेंगे और साथ ही एटीएल मैराथन 2019 के दौरान किसी भी यात्रा / लॉजिस्टिक व्यवस्था के लिए "चाइल्ड स्कूल" को आवश्यक वित्तीय सहायता प्रदान करेंगे।
  • उपरोक्त के अलावा, पेरेंट एटीएल केंद्र के नामित एटीएल प्रभारी भी चाइल्ड स्कूल के छात्रों को आवश्यक तकनीकी मदद और सलाह प्रदान करेंगे।
  • कृपया ध्यान दें कि किसी भी स्कूल को व्यक्तिगत एंट्री नहीं दी जाएगी। गैर-एटीएल स्कूल (चाइल्ड स्कूल) नीचे उल्लिखित टीमों का गठन करके भाग ले सकता है:
    • 01 गैर-एटीएल स्कूल छात्र + 02 एटीएल स्कूल के छात्र = 03 छात्र
    • 02 गैर-एटीएल स्कूल के छात्र + 01 एटीएल स्कूल के छात्र = 03 छात्र
    • 01 गैर-एटीएल स्कूल छात्र + 01 एटीएल स्कूल छात्र = 02 छात्र
  • यदि कोई गैर-एटीएल स्कूल (चाइल्ड स्कूल) एटीएल मैराथन 2019 में आवेदन करना / भाग लेना चाहता है, तो उन्हें पेरेंट एटीएल स्कूल और चाइल्ड स्कूल के दोनों प्रधानाचार्यों द्वारा विधिवत हस्ताक्षरित और मुहर लगाकर एक अंडरटेकिंग (प्रारूप "अनुलग्नक ए" में उपलब्ध) प्रस्तुत करना होगा।
  • आवेदन केवल अंग्रेजी या हिंदी में भेजा जाना चाहिए।
  • केवल 6 वीं - 12 वीं कक्षा के छात्र इसमें भाग ले सकते हैं।
  • कोई छात्र एक से अधिक टीम का हिस्सा हो सकता है।
  • प्रतिभागी अपनी संपर्क की जानकारी को सटीक और अद्यतन रखेंगे।
  • प्रतिभागी पंजीकरण और टीम निर्माण की सही और सच्ची जानकारी प्रदान करेंगे।
  • पंजीकरण के बाद टीम / टीम के सदस्यों में कोई बदलाव / बढ़ोतरी की अनुमति नहीं है और चयनित होने पर मूल टीम को ही प्रतियोगिता विजेताओं के रूप में कार्यशालाओं, आयोजनों और अन्य अवसरों में भाग लेना चाहिए। यह उन छात्रों पर लागू होता है जिन्होंने प्रतियोगिता के दौरान स्कूल से स्नातक हो चुके हैं।
  • भले ही स्कूल के पूर्व छात्र अटल टिंकरिंग लैब्स का उपयोग कर रहे हों, लेकिन स्कूल से बाहर होने के बाद किसी भी छात्र (छात्रों) को एटीएल मैराथन 2019 में भाग लेने / पंजीकरण की अनुमति नहीं दी जा सकती है।
  • . यदि किसी अप्रत्याशित परिस्थिति में एटीएल मैराथन 2019 के लिए पंजीकृत मूल टीम में बदलाव की आवश्यकता हो तो स्कूल प्रिंसिपल को स्कूल लेटरहेड पर टीम में बदलाव का कारण बताते हुए एक ईमेल भेजना आवश्यक है। इसके साथ ही टीम में शामिल किए जा रहे छात्र की सहमति भी जरूरी है। अनुरोध की मंजूरी का अधिकार अटल इनोवेशन मिशन को है और उनके द्वारा लिया गया निर्णय अंतिम और निर्विवाद होगा।
  • जूरी के पास सभी अधिकार सुरक्षित हैं। किसी भी विवाद की स्थिति में जूरी का निर्णय अंतिम होगा।
  • चरण 3 और चरण 4 में जमा करने की अंतिम तिथि 1 मई 2020 है।